Email: contact@khabaribhayiya.com

ललन सिंह ने केंद्र सरकार पर बोला हमला, कहा- केंद्र के इशारे पर एजेंसियां कर रही कार्रवाई

Date:

Share post:

बिहार के बाढ़ जिला के बेलछी में जदयू किसान एवं सहकारिता प्रकोष्ठ द्वारा जनसंवाद कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। इस कार्यक्रम में सांसद ललन सिंह ने केंद्र सरकार के नीतियों के खिलाफ जम कर हमला किया। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी के नेतृत्व वाली सरकार देश में अघोषित आपातकाल लगा चुकी है। किसी अब बोलने की आजादी नही रह गई।

साथ ही सांसद ललन सिंह ने यह भी कहा कि मोदी की सरकार मीडिया पर नियंत्रण कर हुकुमत चला रही है। कामकाज का झूठा प्रचार करती है। केंद्र के इशारे पर जांच एजेंसियां कार्रवाई कर रही है और बोलने की आजादी को छीन रही है।

यह कार्यक्रम मनोज कुमार की अध्यक्षता में हुई। जहां जल संसाधन मंत्री संजय कुमार झा, ग्रामीण विकास मंत्री श्रवण कुमार, एमएलसी संजय सिंह, सांसद कौशलेंद्र कुमार मौजूद थे। ललन सिंह ने स्थानीय लोगों के समस्या को दूर करने का भरोसा दिलाया। इसके बाद दही चूड़ा भोज का आयोजन किया गया।

समदर्शी प्रियम
समदर्शी प्रियमhttps://hindi.khabaribhayiya.com/author/samdarshipriyam/
समदर्शी प्रियम, पत्रकारिता के क्षेत्र मे पांच साल पहले बिहार से मुखिया जी पत्रिका से शुरुआत, नवभारत टाइम्स में स्वतन्त्र ब्लॉग लेखन, डिजिटल प्लेटफॉर्म इंसाइडर लाईव में सब-एडिटर। सतत सीखने की इच्छा बेहतर होने का साधन है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img

Related articles

आत्महत्या के लिए उकसाने के मामले में AAP नेता दोषी करार, सुसाईड नोट ने खोला राज

नई दिल्ली: दिल्ली की राऊज एवेन्यू कोर्ट ने दक्षिणी दिल्ली के एक डॉक्टर की आत्महत्या के मामले में...

लोकप्रिय भोजपुरी गायक छोटू पांडे की दुर्घटना में मौत, तिलक समारोह में जा रहे थें

सासाराम: कार्यक्रम आयोजकों द्वारा कार्यक्रम स्थल पर समय पर पहुंचने के लिए बार-बार कॉल करने के कारण रविवार...

बच्ची की रहस्यमय परिस्थितियों में मौत, मां ने तीसरे पति पर लगाया हत्या का आरोप

पटना: शिवहर जिले के सदर थाना अंतर्गत जाफरपुर गांव में सोमवार को ढाई साल की एक बच्ची की...

अंबुजा अडानी सीमेंट रवान प्लांट के इंटक यूनियन के मजदूरों ने की नारेबाजी, 18 सूत्रीय मांगो पर दिया जोर

अर्जुनी - अंबुजा अडानी सीमेंट संयंत्र रवान में इंटक यूनियन ने मजदूरों के प्रमुख 18 सूत्रीय मांगों को...